Copyright 2018 www.indiaskk.com. Powered by Blogger.

Blogging

Love Awareness

Business Information

Motivation

Essential News

Health Awareness

Blogging

Festivals

» » थायराइड में रखें अपना विशेष तौर पर ध्यान नहीं तो उठानी पड़ सकती हैं हानि Keep your thyroid in particular Otherwise, you may have to bear loss

थायराइड के प्रति लोगों में जागरूकता होना बेहद जरूरी है। ज्यादातर लोग थायराइड के बारे में बहुत कम ही जानते हैं इसलिए उन्हें जागरुक होना बेहद जरूरी है। उन्हे यह भी पता होना चाहिए कि इस बीमारी के क्या क्या लक्षण है। इसके बारे में जानना जरूरी है ताकि यह कोई बड़ा रूप ना ले ले, जागरुकता हमें कई तरह की समस्याओं से बचा सकती हैं। गले में ग्रंथि(ग्लैंड)पाई जाती है जो कि तितली के आकार के सामान होती है। शरीर का सारा नियंत्रण ही इस ग्रंथि के द्वारा होता है।  


Keep your thyroid in particular Otherwise, you may have to bear loss
thyroid



थायराइड के सिम्टम्स ज्यादातर महिलाओं में पाये जाते हैं। हारमोंस का सही मात्रा में प्रोडक्शन ना होने के कारण थायराइड की प्रॉब्लम हो जाती है। पाचन तंत्र, लिवर की कार्यप्रणाली का सही तरह से कार्य ना करना, शरीर का तापमान सही ना होना, कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ जाता है जिसकी वजह से हॄदय संबधित परेशानी होने का डर बना रहता है। शरीर में हार्मोन असंतुलन होने लगता है। जिसके कारण प्रेगनेंसी प्लान करने में काफी कठिनाई होती है।


आप यह वीडियो भी देख सकते हैं जिसमें बाबा रामदेव जी ने थायराइड के बारे में योग द्वारा और आयुर्वेदिक दवाई के द्वारा थायराइड का उपचार बताया है।

हाइपोथायरायडिज्म-  जब थायराइड स्टिम्युलेटिंग हॉर्मोन (TSH) हारमोंस का निर्माण शरीर में बहुत ज्यादा होता है तब हमें इन सभी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।


1. अत्यधिक मात्रा में शरीर में वजन बढ़ना। (मोटापा थायराइड की एक बहुत बड़ी समस्या है।)

2. हाथ पैर में स्वेलिंग होना।

3. याददाश्त में कमी होना।

4. बालों का नियमित तौर पर झड़ना, बेजान और रुखा हो जाना।

5. बहुत ज्यादा आलस महसूस करना, जरूरत से ज्यादा आलसी होना, शरीर में बहुत थकावट हो जाना।

6. बहुत ठंड लगना।

7. किसी भी काम में मन ना लगना। AD

हायपरथायराइड- थायराइड स्टिम्युलेटिंग हॉर्मोन (TSH) बनाने का कार्य करने वाले हार्मोन का निर्माण जब कम मात्रा में होता है तब यह समस्या पैदा होती है।

थायराइड के लक्षण-

1. जिसकी वजह से हमारी एकाग्रता में कमी आती है।  हम सही तरीके से अपने ध्यान को केंद्रित नहीं कर पाते हैं।

2. हमें शरीर में बहुत ज्यादा पसीना आता है और गर्मी महसूस होती है।

3. नींद नहीं आती है। हम नींद सही मात्रा में नहीं ले पाते।

4. गले में सूजन रहती है।

5. बार-बार भूख लगना।

6. शरीर में भारीपन लगना।

7. वजन कम होना।
थायराइड की प्रॉब्लम होने पर जांच आवश्यक करवाएं और यह भी पता लगा ले कि यह कोई अनुवांशिक बीमारी तो नहीं है। थायराइड की दवा का नियमित तौर पर सेवन करने से हमें कोई नुकसान नही होता, और  इस बीमारी से राहत मिलती हैं।  इन दवाइयों का कोई साइड इफेक्ट भी नही  होता।

डॉक्टर के सलाह अनुसार या दिए गए निर्देश के मुताबिक दवा का सेवन करें। अपने खाने में कैल्शियम तत्वों का सेवन करें। यदि आप पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम तत्वों का प्रयोग करते हैं तो आप काफी हद तक इस बीमारी से निजात पा सकते हैं।


Keep your thyroid in particular Otherwise, you may have to bear loss
health care


थायराइड के कारण-

हारमोंस का सही मात्रा में प्रोडक्शन ना होने के कारण थायराइड की प्रॉब्लम हो जाती है।

कैल्सियम की कमी की वजह से थायराइड की प्रॉब्लम हो सकती है।

हड्डियां कमजोर पड़ने की वजह से हमें यह प्रॉब्लम हो सकती हैं।

शरीर में हार्मोन असंतुलन होता है।


1. दूध और कैल्सियम का ज्यादा से ज्यादा मात्रा में सेवन करें।

2. ब्लड टेस्ट करवाएं और कुछ चीजों का परहेज करें।

3. तेलीय चीजों का कम मात्रा में सेवन करें।

4. आयोडीन युक्त नमक, काला नमक, सेंधा नमक का सेवन करें।

5. सफेद नमक का सेवन कम करें।

6. अश्वगंधा का इस्तेमाल करे।

7. हरी धनिया के रस उपयोग करे।

8. काली मिर्च का सेवन करें।

9. लौकी के जूस का सेवन करें।

10. अदरक के रस में काली मिर्च मिलाकर उसका सेवन करें।

11. लौकी के जूस का सेवन करें।

12. दही का सेवन करें। AD

13. दूध में हल्दी मिलाकर उसका सेवन करें।

14. यष्टिमधु चूर्ण, अश्वगंधा चूर्ण का सेवन करें।

15. अखरोट, बादाम का सेवन करें।

16. धनिया के रस का सेवन करें।

17. विटामिन ए वाले तत्वों का ज्यादा प्रयोग करें।

18. गेहूं के जवारे का रस का सेवन करें।

19. कॉफी से दूर रहें।

20. सोयाबीन का भरपूर मात्रा में सेवन करें।

21. कैल्शियम युक्त तत्व का सेवन करें।

22. तुलसी,एलोवेरा का सेवन करें।

23. पानी ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पिए।

24. योग और प्राणायाम का सहारा ले।

25. यदि आप चाहें तो होम्योपैथिक ट्रीटमेंट भी ले सकते हैं।

थायराइड एक ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर बहुत ही ज्यादा असंतुलित हो जाता है। हमें कई तरह की बीमारियां लग जाती हैं। इनसे बचने के लिए हमें डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। डॉक्टर की सलाह के बिना कोई भी उपचार का उपयोग ना करें उससे परेशानी भी हो सकती है। इसलिए डॉक्टर की सलाह जरूर ले,डॉक्टर की सलाह में ही किसी भी उपचार का सेवन करना चाहिए।

हमारे अन्य लेख-

How you can earn a lot of money from business(आप बहुत सारा पैसा कैसे कमा सकते हैं व्यापार से)




«
Next
Newer Post
»
Previous
Older Post

6 comments:

  1. आपने अपने ब्लॉग में थायराइड के सिम्टम्स और थायराइड के उपचार पर बहुत ही अच्छी जानकारी दी है!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको जानकारी अच्छी लगी इसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

      Delete
  2. Replies
    1. फ्रेंड मैं आपकी बात समझ नहीं पाया।

      Delete
  3. मुझे कई दिनों से दिनभर बार-बार पेशाब आना है क्रप्या उचित घरेलू नुस्खा बताएं

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप अच्छे डॉक्टर की सलाह लें, वही आपकी परेशानी का सही उपचार बता पाएंगे।

      Delete