Copyright 2018 www.indiaskk.com. Powered by Blogger.

Blogging

Love Awareness

Business Information

Motivation

Essential News

Health Awareness

Blogging

Festivals

» » » Dev Uthani Gyaras Ke Din Kare Ye 5 Upay, Vrat Hoga Safal (देवउठनी ग्यारस के दिन करें ये 5 अचूक उपाय,व्रत होगा सफल)

एकादशी व्रत रखने से संतान सुख, धन, संपत्ति, यश आदि का सुख प्राप्त होता है। प्रबोधिनी एकादशी को पाप मुक्त करने वाली एकादशी के नाम से भी जाना जाता है।  देवउठनी ग्यारस में यह 5 अचूक उपाय करके अपने जीवन में परिवर्तन देखें और यह देखें कि किस तरह से इस व्रत के प्रभाव से आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी।

Dev Uthani Gyaras
dev uthani ekadashi

इस दिन 4 महीने पहले देवशयनी ग्यारस के दिन भगवान विष्णु जी एवं अन्य सभी देवता क्षीरसागर में जाकर सो जाते हैं, इसलिए इन दिनों व्रत, पूजा पाठ, दान, पुण्य अादि कार्य किए जाते हैं। चार महीनों में कोई भी बड़े शुभ कार्य जैसे- शादी-विवाह, मुंडन संस्कार, नामकरण संस्कार अादि कार्य नहीं किए जाते।

यह सभी देवउठनी ग्यारस(एकादशी) से प्रारंभ होते हैं। इस दिन तुलसी विवाह का विशेष महत्व माना जाता है। यह दीपावली के 12वें दिन मनाया जाता है। यह मनोकामना पूर्ण करने का दिन होता है।

Dev uthani Gyaras ki Sampoorna puja vidhi evam samigri 2018 Gyan Bhakti


इस दिन से सभी शुभ कार्य प्रारंभ हो जाते हैं। यह दीपावली के 11 दिन बाद मनाया जाता है, इस दिन बड़ी से बड़ी मनोकामना पूर्ण होती है। 31 अक्टूबर 2017 मंगलवार को प्रबोधिनी एकादशी मनाई जाएगी।


5 अचूक उपाय-
1. दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर श्री विष्णु जी का जल से अभिषेक करें। इससे भगवान विष्णु जी प्रसन्न होते हैं और हजारो जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं।

2. किसी ब्राह्मण को दक्षिणा दें, और भोजन करायें। ऐसा करने से आपके सभी मनोरथ पूर्ण होंगे।

3. आप आमदनी में बढ़ोतरी करना चाहते हैं तो 7 कन्याओं को भोजन कराएं। भोजन में खीर को अवश्य शामिल करें, ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आप जिस काम के लिए कोशिश कर रहे हैं, वह पूरा होगा।

यह भी पढ़ें- Dev Uthani Ekadashi Puja Vidhi Evam Muhurt (देवउठनी एकादशी पूजा विधि एवं मुहूर्त)

4. नारियल व बादाम चढ़ाये। इससे रूकें हुये काम बनते हैं।

Dev Uthani Gyaras
dev uthani gyaras
5. रूपये दक्षिणा विष्णु जी के समीप रखें। उस पैसे को तिजोरी में रख दें, ऐसा करने से धन, संपत्ति में निश्चित तौर पर वृद्धि होती है।

यह भी पढ़ें-Tulsi Vivah Katha Aur Aarti (तुलसी विवाह कथा एवं आरती)
तुलसी पौधे के नीचे गाय के घी का दीपक जलाएं और ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः मंत्र से पूजा करें। ऐसा करने से घर में सुख शांति बनी रहती है।

पूजा में बेलपत्र, शमी के पत्ते, तुलसी आदि को जरूर शामिल करें। विष्णु भगवान को तुलसी के पत्ते चढ़ाने से वह बहुत ही ज्यादा प्रसन्न होते हैं।

दोस्तों, मैंने आपको इन उपायों के बारे में बताया यह उपाय देवउठनी एकादशी के दिन अवश्य करें। ऐसा करने से आपको सौभाग्य प्राप्त होगा और आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे।

«
Next
Newer Post
»
Previous
Older Post

No comments:

Leave a Reply