Copyright 2018 www.indiaskk.com. Powered by Blogger.

Blogging

Love Awareness

Business Information

Motivation

Essential News

Health Awareness

Blogging

Festivals

» » » » » Bhagwan Shiv Ki Puja Mein Rakhe in Baaton Ka Dhyan Kya Kare Kya Na Kare Jane भगवान शिव की पूजा मैं इन बातों का रखें ध्यान। क्या करें क्या ना करें।

Bhagwan Shiv Ki Puja Mein Rakhe in Baaton Ka Dhyan Kya Kare Kya Na Kare Jane भगवान शिव की पूजा मैं इन बातों का रखें ध्यान। क्या करें क्या ना करें। 
Bhagwan Shiv बहुत ही दयालु और अति शीघ्र प्रसन्न होते हैं अपने भक्तों की हर मनोकामना को पूर्ण करते हैं, पर कुछ ऐसी सामग्रियां(चीजें) हैं, जिनको Bhagwan Shiv पर नहीं चढ़ाना चाहिए, उससे वह क्रोधित होते हैं 
आइए जानते हैं, ऐसी ही सामग्री(चीजों) के बारे में जो Bhagwan Shiv पर नहीं चढ़ाना चाहिए इससे Bhagwan Shiv की पूजा का फल नहीं मिलता और Bhagwan Shiv क्रोधित हो जाते हैं। 


Bhagwan Shiv Ki Puja Mein Rakhe in Baaton Ka Dhyan Kya Kare Kya Na Kare Jane भगवान शिव की पूजा मैं इन बातों का रखें ध्यान। क्या करें क्या ना करें।
Bhagwan Shiv Ki Puja Mein Rakhe in Baaton Ka Dhyan


क्लिक करें और जानें मंत्र और स्तुति।↴↴↴↴↴↴↴↴↴ Click and Learn


Mantra our Stuti Mahamrityunjay Mantra, Bhajan, Rudrashtakam, Lingashtakam, Shiv Tandava Stotram (मंत्र और स्तुति महामृत्युंजय मंत्र, प्रसिद्ध भजन, रुद्राष्टकम, लिंगष्टकम्, शिव ताण्डवस्तोत्रं)

आइए जानते हैं वह सामग्रियां (चीजें) क्या है।

"Bhagwan Shiv Ki Puja Mein Rakhe in Baaton Ka Dhyan Kya Kare Kya Na Kare"

Bhagwan Shiv की पूजा करते समय हम जाने अनजाने में यह गलतियां कर देते हैंहम भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उनकी पूजा करते हैं, मनोकामनाओं को पूर्ण करने के लिए उनकी पूजा करते हैं, भगवान शिव के आशीर्वाद के लिए उनकी पूजा करते हैं और उनकी कृपा हम पर बनी रहे पर उनकी कृपा हम पर नहीं होती क्योंकि हमसे अनजाने में कुछ गलतियां हो जाती हैं। 
आइए जानते हैं, कि उन गलतियों को जिससे भगवान शिव की पूजा करते समय यह गलतियों ना हो। 

महाशिवरात्रि पूजन विधि घर पर रहकर करें शिव प्रभु की पूजा Mahashivrstri Pujan vidhi

क्लिक करें और जानें मंत्र और स्थितियां।↴↴↴↴↴↴↴↴↴Click and Learn 


Maha Shivratri 2018:17 significance of Festival and Fasting महाशिवरात्रि 2018- त्यौहार और व्रत का महत्व

Kya Kare Kya Na Kare Jane
1. फूल (Flower) - Bhagwan Shiv पर लाल रंग के फूल अर्पित नहीं करना चाहिए पर कमल और कनेर के फूल भगवान शिव पर चढ़ा सकते हैं। इसके अतिरिक्त केतकी और केवड़े के फूल अर्पित करना भी वर्जित है भगवान शिव को सफेद रंग के फूल अर्पित करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं।

2. हल्दी (Turmeric) - Bhagwan Shiv पर हल्दी नहीं चढ़ाना चाहिए हल्दी सभी धार्मिक और वैवाहिक कार्यक्रम में उपयोग की जाती है पर शिवजी की पूजा में हल्दी का उपयोग नहीं होता इसका मुख्य कारण यह है कि हल्दी सौंदर्य प्रसाधन मे उपयोग की जाती है शास्त्रों में यह मान्यता है कि शिवलिंग पुरुषत्व का प्रतीक है इस वजह से भगवान शिव पर हल्दी चढ़ाना वर्जित है।
Bhagwan Shiv
Bhagwan Shiv

3. बर्तन (Utensil) - Bhagwan Shiv पर जल अभिषेक करते समय पीतल, तांबे, अष्टधातु का उपयोग करना चाहिए लोहा या स्टी के बर्तन का उपयोग नहीं करना चाहिए।

4. शंख (Shell) - Bhagwan Shiv की पूजा में शंख का उपयोग नहीं करना चाहिए भगवान शिव ने शंखचूर नामक असुरों का वध किया था इस कारणवश भगवान शिव की पूजा में शंख का उपयोग नहीं होता हैं।

5. कुमकुम या रोली (Kumkum or Rolly) -  शास्त्रों के अनुसार Bhagwan Shiv पर कुमकुम या रोली काे चढ़ाना निषेध बताया गया है। कुमकुम श्री,लक्ष्मी, सौभाग्य का प्रतीक है और भगवान शिव बैरागी है, इस कारण से भी भगवान शिव पर कुमकुम नहीं चढ़ता।

6. चावल का प्रयोग (Rice) - Bhagwan Shiv पर या किसी भी पूजा में खंडित अर्थार्थ टूटे हुए चावल का प्रयोग नहीं करना चाहिए। टूटे हुए खंडित चावल अशुद्ध होते हैं इस पूजन में उपयोग नहीं करना चाहिए।

क्लिक करें और जानें मंत्र और स्थितियां।↴↴↴↴↴↴↴↴↴Click and Learn 


7. तुलसी (Basil)-  Bhagwan Shiv को तुलसी के पत्ते नहीं चढ़ाना चाहिएइसकी एक कथा है, शास्त्रों के अनुसार भगवान विष्णु के अवतार शालिग्राम जिनकी पत्नी माता तुलसी है इसलिए तुलसी के पत्ते भगवान शिव पर नहीं चढ़ाए जाते।

8. बेलपत्र, बिल्वपत्र (Balpatra) - Bhagwan Shiv की पूजा में बिल्व पत्र बहुत महत्व है पर भगवान शिव पर बेलपत्र चढ़ाने के पहले यह जरूर देख लें कि वह बेलपत्र खंडित अर्थात कटे-फटे तो नहीं है वरना भगवान उन बेलपत्र को स्वीकार नहीं करते। 

Gyan Bhakti - 

शिव जी का ये महामंत्र दुनिया के सारे कष्टों से बचाएगा Shiv Ji Ka Maha Mantra

Please Subscribe My YouTube Channel Gyan bhakti  
9.  कांसा (Kasa) - Bhagwan Shiv की पूजा या किसी भी पूजा में कांसा का बर्तन का उपयोग नहीं करना चाहिए इससे पूजा का फल नहीं मिलता।

भगवान शिव एक लोटा जल से भी प्रसन्न हो जाते हैं भावनाएं और प्रेम, ईश्वर के प्रति पूर्ण रुप से समर्पित होना चाहिए मन, ध्यान ईश्वर पर होना चाहिए जो व्यक्ति सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा करता है या नाम लेता है इससे ही उसके सारे काम बन जाते हैं, सफलताओं को हासिल कर लेता है भगवान शिव बहुत ही दयालु दयानिधान है महादेव।

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए KyaKare ↴↴↴↴↴↴↴↴↴Click and Learn

Bhagwan Shiv Par In Samagri Ko Chadane Se Milte Hain Yeh Adbhut Labh

«
Next
Newer Post
»
Previous
Older Post

No comments:

Leave a Reply