Copyright 2018 www.indiaskk.com. Powered by Blogger.

Blogging

Love Awareness

Business Information

Motivation

Essential News

Health Awareness

Blogging

Festivals

» » » Devon Ke Dev Mahadev, Lord Shiva Ek Mantra देवों के देव महादेव, भगवान शिव एक मंत्र

"Devon Ke Dev Mahadev, Lord Shiva देवों के देव महादेव, भगवान शिव"

Devon Ke Dev Mahadev, Lord Shiva बहुत ही भोले है और अपने भक्तों पर तुरंत प्रसन्न होते हैं।  "indiaskk हिंदी में" आपके लिए भगवान शिव (Lord Shiva) के मंत्रों की शक्ति का उल्लेख कर रहे हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही एक अद्भुत मंत्र को जिससे जीवन में आए कष्टों का निवारण किया जा सकता है।


  1. समर्पण भगवान शिव के प्रति (Dedication to Lord Shiva)
  2. पूर्ण विश्वास भगवान शिव पर (Full faith on Lord Shiva)
  3. शरण भगवान शिव की। (Asylum of Lord Shiva)
  4. सेवा भाव की भावना भगवान शिव के प्रति (The feeling of service to Lord Shiva)
  5. इन विचारों का त्याग करके भगवान शिव से प्रार्थना करें (Devote these thoughts and pray to Lord Shiva)
वीडियो देखने के लिए क्लिक करें Click to watch the video -

     भगवान शिव को प्रसन्न करने के सरल 5 उपाय


भगवान शिव (Lord Shiva) जो अपने भक्तों पर बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं इसलिए उनको भोलेनाथ कहा जाता है। वह अपने भक्तों के कष्टों को नहीं देख सकते। जो भी उनकी पूजा पूर्ण श्रद्धा भाव से करता है और उनमें समर्पित होकर करता है, भगवान शिव तुरंत उस पर प्रसन्न हो जाते हैं और उसके कष्टों का निवारण कर देते हैं। भगवान शिव (Lord Shiva) शून्य से अनंत तक है। सब कुछ शिव है, न शिव से पहले कुछ है, ना शिव के बाद कुछ है, संपूर्ण ब्रह्मांड भगवान शिव (Lord Shiva) है, ऐसे परमात्मा भगवान शिव (Lord Shiva) अपने बच्चों पर कभी कष्ट नहीं आने देते।

 Lord Shiva
 Lord Shiva
भगवान शिव (Lord Shiva)  का मूल मंत्र है - ऊँ नमः शिवाय "

जीवन में आई हुई हर परेशानियों को हल करने में सक्षम है। इस मंत्र का उच्चारण आसानी से किया जा सकता है। यह मंत्र अद्भुत है, इस मंत्र से जितने भी बिगड़े काम है उन सबको बनाया जा सकता है। आपको भगवान शिव के इस मूल मंत्र ऊँ नमः शिवाय का नित्य उच्चारण करना है। भगवान शिव जो "Devon Ke Dev Mahadev" हैं वह भक्तों की श्रद्धा भाव देखकर ही प्रसन्न हो जाते हैं।

सुबह उठकर नित्य कर्म के बाद स्नान करके भगवान शिव पर जल अभिषेक करें और ओम नमः शिवाय का जप करें। भगवान शिव इतने दयालु हैं कि वह केवल जल अभिषेक से ही प्रसन्न हो जाते हैं और मनचाहा वर दे देते हैं।

वैसे तो भगवान शिव के बहुत सारे मंत्र हैं पर अगर आप पूर्ण विश्वास के साथ ऊँ नमः शिवाय का जाप करते हैं तो आप की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी।

"Devon Ke Dev Mahadev, Lord Shiva देवों के देव महादेव, भगवान शिव"
इन 5 बातों का ध्यान रखें। -

1. समर्पण भगवान शिव के प्रति (Dedication to Lord Shiva) - जब हम भगवान शिव (Lord Shiva) की पूजा करते हैं, उस समय पूर्ण रूप से आप अपने आप को भगवान शिव को समर्पित करें। केवल आपके मन में भगवान शिव की छवि दिखना चाहिए। जब आप पूर्ण रूप से भगवान शिव में समर्पित होंगे। भगवान शिव (Lord Shiva) आप पर जरूर प्रसन्न होंगे।

2. पूर्ण विश्वास भगवान शिव पर (Full belief on Lord Shiva) - भगवान शिव बहुत ही दयालु वह अपनी हर बच्चों पर अपना आशीर्वाद बनाए रखते हैं। जिस तरह भगवान शिव (Lord Shiva) दया के सागर है और अपने बच्चों का साथ कभी नहीं छोड़ते। उसी तरह मनुष्य को भी भगवान पर विश्वास रखना चाहिए। जब तक आप पूर्ण विश्वास नहीं रखेंगे, तब तक आपका मन विचलित रहेगा इसलिए जब भी आप भगवान शिव (Lord Shiva) की पूजा करें तो अपना विश्वास पूर्ण रुप से भगवान शिव (Lord Shiva) पर रखें। आप के विश्वास से भगवान प्रसन्न होंगे और आपकी सारी मनोकामनाओं को पूर्ण करेंगे।

3. शरण भगवान शिव की (Asylum of Lord Shiva) - भगवान शिव (Lord Shiva) से प्रार्थना करें और कहे कि हे शिव हम आप की शरण में और आपके इलावा हमारा कोई भी नहीं। जो व्यक्ति भगवान की शरण में चला जाता है तो संसार की कोई भी ताकत उसका कुछ भी नहीं बिगाड़ सकती। कितने भी गहन संकट क्यों ना हो उसके ऊपर, उन सभी संकटों का निवारण हो जाता है।

4. सेवा भाव की भावना भगवान शिव के प्रति (The feeling of service to Lord Shiva) - जब हम भगवान शिव (Lord Shiva) से मांगे कुछ भी, तब भिखारी बनकर, उनका पुत्र बनकर, उनका सेवक बनकर, उनका दास बनकर जो व्यक्ति इस भावना से भगवान शिव (Lord Shiva) से कुछ भी मांगता है। ईश्वर भगवान शिव (Lord Shiva) उसकी मनोकामना पूर्ण करते हैं। ( जब व्यक्ति स्वयं राजा बनकर भगवान शिव से मांगता है तो एक राजा को एक राजा क्या दे सकता है) इसलिए जब भी भगवान शिव (Lord Shiva) की पूजा करें। अपने आप को दास समझें, सर झुका कर भगवान शिव (Lord Shiva) को नमन करें और उनकी पूजा करें।

5. इन विचारों का त्याग करके भगवान शिव से प्रार्थना करें (Devote these thoughts and pray to Lord Shiva)  - भगवान शिव (Lord Shiva) की जब आप पूजा करें तो आपके मन में केवल भगवान शिव (Lord Shiva) के ही विचार आना चाहिए। मन में काम, क्रोध, मद, लोभ, ईर्ष्या, आदि तरह की भावना नहीं आना चाहिए। केवल और केवल भगवान शिव (Lord Shiva) का ही विचार मन में होना चाहिए।

- हम अपने अगले आर्टिकल में भगवान शिव की पूजा से लेकर भगवान शिव के मंत्र और भी बहुत सारी रोचक बातें जो हमको जाना चाहिए।

«
Next
Newer Post
»
Previous
Older Post

No comments:

Leave a Reply